Sunday, July 12, 2009

जे रब मिलदा जंगल जायां

जे रब मिलदा जंगल जायां
मिलदा चाम चड़खियां नूँ

जे रब मिलदा नहातयां धोतयां
मिलदा डडुआं मच्छियां नूँ

जे रब मिलदा टल वजायां
मिलदा गऊँआं वच्छियां नूँ

बुल्ले शाह इंज रब नहीं मिलदा
रब मिलदा ए नीतां अच्छियां नूँ

--बुल्ले शाह

2 comments: