Sunday, June 28, 2009

घर आ के मां बाप बहुत रोये अकेले में

घर आ के मां बाप बहुत रोये अकेले में
मिट्टी के खिलौने भी सस्ते ना थे मेले में
--अज्ञात

1 comment:

  1. छोटी-सी मगर करुण रचना।

    ReplyDelete