Wednesday, March 14, 2012

इस बात पर भी उसे ....... 'ऐतराज' रहता है

मान जाए ‘कल’ शायद पर .. ‘आज’ रहता है
वो इन दिनों .. कुछ हमसे ‘नाराज़’ रहता है

हर बात से उसकी ...... 'इत्तेफाक' रखता हूँ
इस बात पर भी उसे ....... 'ऐतराज' रहता है

--अमित हर्ष

1 comment:

  1. अरे वाह||||
    बहूत बढीया...

    ReplyDelete